Monday , October 23 2017
Breaking News
Home / Breaking News / इस IG को महिला कांस्टेबल से फोन पर प्यार का इज़हार करना पड़ा महंगा, हुआ ये हाल

इस IG को महिला कांस्टेबल से फोन पर प्यार का इज़हार करना पड़ा महंगा, हुआ ये हाल

छत्तीसगढ़ कैडर के सीनियर आईपीएस और पुलिस मुख्यालय में पदस्त आईजी पवन देव पर कंपलसरी रिटारमेंट की तलवार लटक रही है. एक महिला कॉन्स्टेबल के साथ बदसलूकी करने के मामले में छत्तीसगढ़ सरकार से केंद्रीय गृह मंत्रालय ने रिपोर्ट मांगी है।यह मामला लगभग डेड़ साल पुराना है, जब पवन देव बिलासपुर रेंज के आईजी थे।

पवन देव पर आरोप है कि उस वक्त वह एक लेडी कॉन्स्टेबल को अपने सरकारी आवास के टेलीफोन और मोबाइल नंबरों से आधी रात फोन करके अश्लील बातें किया करते थे, तो कभी उससे अपने प्रेम का इजहार करते थे. लेडी कॉन्स्टेबल ने सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर गठित विशाखा कमिटी से आईजी की शिकायत कर दी, जिसके बाद कमिटी ने अपनी जांच में आईजी को दोषी पाया था।

एक महिला आईएएस की अध्यक्षता और तीन महिला आईपीएस अधिकारियों वाली विशाखा कमिटी ने अपनी रिपोर्ट साल भर पहले छत्तीसगढ़ सरकार को सौंपी थी, लेकिन छत्तीसगढ़ सरकार ने महीनों बाद भी आरोपी अधिकारी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की. उधर शिकायतकर्ता लेडी कॉन्स्टेबल का आरोप था कि उसे साल भर से परेशान किया जा रहा है और आईजी पवन देव उस पर अपनी शिकायत वापस लेने के लिए दबाव बना रहे हैं।

इस मामले में राज्य सरकार की तरफ से कोताही के आरोपों के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राज्य सरकार से मामले की पूरी रिपोर्ट मांगी. इसमें पवन देव के खिलाफ की गई कार्रवाई की जानकारी उसे और शिकायतकर्ता को देने को कहा गया है। मुंगेली जिले की एक महिला कांस्टेबल ने 30 जून 2016 को आईजी पवन देव के ऊपर फोन पर अश्लील बातें करने और अनुचित दबाव बनाकर अपने बंगले पर बुलाने का आरोप लगाया था. इस मामले में विशाखा कमिटी की रिपोर्ट के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं होने से अब यह हाई प्रोफ़ाइल मामला प्रधानमंत्री, गृहमंत्री, राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग और राष्ट्रीय महिला आयोग तक जा पंहुचा है।

 

ये भी पढ़े

बॉडी बिल्डिंग चैम्पियनशिप में विश्व विजेता बने विपनेश

Share this on WhatsAppगाजियाबाद(शिवम गौड़) बॉडी बिल्डिंग के मिस्टर गाजियाबाद रह चुके विपनेश चौधरी ने फिर …

error: Content is protected !!