Monday , October 23 2017
Breaking News
Home / Breaking News / रुड़की में पुलिस की तानाशाही, जबरन हटाए गए दुकान

रुड़की में पुलिस की तानाशाही, जबरन हटाए गए दुकान

रुड़की(विकास भाटिया): अपने परिवार को पालने के लिए एक आम आदमी दिन भर भागता-दौड़ता है और तब जाकर दो वक्त की रोटी की व्यवस्था हो पाती है। लेकिन जिस जगह से उसे रोजी-रोटी कमाने का मौका मिलता हो अगर वहीं से उसको जबरन हटा दिया जाए तो वो बिलबिला उठता है। कुछ ऐसा ही मंज़र आज रुड़की के बुध बाज़ार का था। जहां पर आज पुलिस प्रशासन ने सैंकड़ो छोटे दुकानदारों को बिना कोई सूचना दिए उनकी अस्थाई दुकानों को हटवा दिया है।

दरअसल रुड़की में प्रत्येक बुधवार को साप्ताहिक अवकाश रहता है जिसके चलते छोटे दुकानदारों को प्रशासन ने बुद्ध बाज़ार लगाने के लिए जगह दी हुई हैं। इस बाज़ार में छोटे दुकानदार अपनी दुकानों को सप्ताह में एक बार लगाते हैं और अपनी रोजी-रोटी कमाते हैं। यह सिलसिला सालों से ऐसा ही चलता आ रहा हैं मगर आज पुलिस ने बुद्ध बाज़ार में लगी दुकानों जबरन हटवाना शुरू कर दिया है। जिसके कारण छोटे दुकानदार हक्का-बक्का रह गए उन्हें यह समझ नहीं आया कि सप्ताह में एक बार जिन दुकानों को लगाने के लिए खुद प्रशासन ने जगह उपलब्ध कराई हुई हैं उस जगह को आज खुद पुलिस-प्रशासन क्यों छीन रहा है ?और क्यो उन्हें बेरोज़गार किया जा रहा है?

 

ये भी पढ़े

बॉडी बिल्डिंग चैम्पियनशिप में विश्व विजेता बने विपनेश

Share this on WhatsAppगाजियाबाद(शिवम गौड़) बॉडी बिल्डिंग के मिस्टर गाजियाबाद रह चुके विपनेश चौधरी ने फिर …

error: Content is protected !!