Friday , September 22 2017
Breaking News
Home / Breaking News / 40 लाख की रंगदारी न देने पर मासूम की हत्या

40 लाख की रंगदारी न देने पर मासूम की हत्या

(सोनू चौधरी) मेरठ में बदमाशों ने अपना आतंक मचा रखा और पुलिस को बोना साबित कर ताबड़तोड़ खटनाओ को अंजाम दे रहे है, मेरठ में इस बार बदमाशों ने एक मासूम का अपहरण कर रंगदारी न मिलने पर उसका कत्ल कर दिया, घटना के बाद से इलाके में सनसनी फैली हुई है जबकि पुलिस कई टीम लगाकर जल्द ही आरोपियों को पकड़ने का दम भर रही है।

आपको बता दे मेरठ के थाना भावनपुर क्षेत्र के नबीपुर में रहने वाला शिवा आज अपने घर से अपने स्कूल को निकला था, शिवा महज 16 वर्ष का था जो कि रोज की तरह ही आज भी परीक्षितगढ़ स्थित सरस्वती शिशु मंदिर में पढ़ने के लिए गया था, शिवा को 2 बजे अपने घर लोट आना था, लेकिन शिवा शाम तक भी अपने घर नहीं लोटा तो परिवार वालो को फ़िक्र हुई, और उन्होंने बच्चे की तलाश शुरू की, शिवा का शाम होते होते क्षेत्र के ही गांव नगला शाहू में होनी की लोकेशन मिली, लोकेशन मिलते ही गांव वालो ने नगला शाहू के खेतो को घेर लिया और अपना डेरा जमा लिया, जिससे बदमाश घबरा गए और बदमाशों ने शिवा को गोली मार दी, गोली चलने की आवाज़ जैसे ही गांव वालो ने सुनी तो वो समझ गए कि शिवा के साथ कोई अनहोनी हो गई है, काफी मसक्कत के बाद शिवा को तलाश लिया गया, शिवा को गोली लगी थी, जिससे उसको मेरठ के आनद हॉस्पिटल में भर्ती कराया, लेकिन शिवा मौका ऐ वारदात पर ही दम तोड़ चूका था, शिवा को अस्पतल में मर्त घोषित कर दिया, जिसके बाद परिजनों पर गमो का पहाड़ टूट पड़ा, और परिजन पूरी तरह से परेशान हो गए, इस दौरान परिजनो ने मीडिया से बात तक नहीं की, लेकिन जिले की कप्तान अपने मुँह से ही पूरी कहानी सुना रही है कि किस तरह से बच्चे के ड्रावर पिता से 40 लाख रूपये की रंगदारी मांगी गई, और न देने पर उसको मौत के घाट उतार दिया गया, हालांकि एसएसपी का कहना है कि इस घटना में इनके गांव के लोग भी शामिल हो सकते है बाकि परिजनों की तहरीर के आधार पर आगे की कार्यवाही की जाएगी, लेकिन फिलहाल एसपी क्राइम और तीन सीओ व् पांच थाना अध्यक्षों को घटना के खुलासे में लगाया गया है, उम्मीद है जल्द ही आरोपी पुलिस की गिरफ्त में आ जाएंगे।

बताया जाता है शिवा के परिजनों से दो दिन पहले भी फोन कॉल के माध्यम से रंगदारी मांगी गई थी, लेकिन शिवा के पिता महज एक ड्राइवर है, इतनी रकम न होने के चलते उन्होंने भी इग्नोर कर दिया, लेकिन आज उन्होंने सोचा भी नहीं होगा कि घर से स्कूल के लिए गया उनका लाल आज घर ही नहीं लौटेगा, लेकिन अब देखना यही होगा कि इस घटना के पीछे किसका हाथ है, कोई है जो पैसो के लिए ये सब कर रहा है या किसी जानकार ने ही इस घटना को अंजाम दिया है, लेकिन इससे जरूर साबित होता है कि मेरठ में पुलिस का इकबाल आज खत्म हो गया है, आज बदमाशों के दिलो में ,पुलिस का तनिक भी खौफ नहीं रह गया है और वो रंगारी, लूट हत्या और डैकेती जैसी घटनाओ को बड़े आराम से अंजाम दे रहे है।

ये भी पढ़े

सीएम योगी के बाद पीएम मोदी 9 दिन के उपवास पर, होगी विशेष पूजा

Share this on WhatsAppहिन्दुओं की सबसे पवित्र त्योहार शारदीय नवरात्रि आज से शुरू हो चुके …

error: Content is protected !!