Monday , October 23 2017
Breaking News
Home / Breaking News / मन इधर उधर भागता है तो करें ये काम

मन इधर उधर भागता है तो करें ये काम

मन को स्थिर यानि एकाग्रचित करने के लिए सभी उम्र के लोग कई प्रकार के प्राणायाम करते हैं। फिर भी यह चंचल मन जो कि स्थिर नहीं होता है। यदि अस्थिर मन से किसी भी काम को किया जाता है, तो वह काम अच्छे से पूरा नहीं होता है। आज हम आपको बताने जा रहे है कि कैसे युवा वर्ग अपने मन पर पूर्ण नियंत्रण कर सकते हैं।

मन की चंचलता स्थिर करने के लिए ध्यान ही एक मात्र प्राणायाम है, जिसको रोज थोड़ा-थोड़ा अभ्यास करने से मन को स्थिर रख सकते हैं। पद्मासन भी एक ऐसी स्थिति है जिसमें आपका कमर सीधा रहता है, इस दौरान जब आप ध्यान लगाने बैठे तो मन में जो विचार आ रहे हैं उसे आने दें। केवल उन विचारों को देखते रहें मन एक विचार से दूसरे विचार और दूसरे से तीसरे विचार की ओर ले जाएगा।

इसके अलावा अनेक प्रकार के घटना, दुर्घटना और न जाने कितने प्रकार के विचार आएंगे लेकिन उन विचारों में आपको डूबना नहीं है। केवल विचारों को देखते रहिए। अपनी आंखें बंद कर मन को आज्ञाचक्र पर कुछ देर तक केद्रित करने का प्रयास करना चाहिए। इसके बाद मन मे कोई विचार लाए और कुछ देर तक उस पर ध्यान को केद्रित करें और उस विचार को मन से हटा दें फिर दूसरा विचार लाएं और उस पर भी कुछ देर तक ध्यान केंद्रित कर उसे भी मन सें हटा दें। इस तरह मन में अलग-अलग विचारों को लाते रहें तथा कुछ देर तक उसपर अपना ध्यान केंद्रित कर उसें हटाते जाए।

 

ये भी पढ़े

बॉडी बिल्डिंग चैम्पियनशिप में विश्व विजेता बने विपनेश

Share this on WhatsAppगाजियाबाद(शिवम गौड़) बॉडी बिल्डिंग के मिस्टर गाजियाबाद रह चुके विपनेश चौधरी ने फिर …

error: Content is protected !!