Monday , October 23 2017
Breaking News
Home / Breaking News / संगीत सोम पर आजम का तंज, संसद और राष्ट्रपति भवन इन्हें भी गिरा दो

संगीत सोम पर आजम का तंज, संसद और राष्ट्रपति भवन इन्हें भी गिरा दो

ताजनगरी आगरा के ताजमहल पर भारतीय जनता पार्टी के विधायक संगीत सिंह सोम के बयान पर आजम खां ने पलटवार किया है। बता दें कि अखिलेश यादव सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे आजम खां ने सिर्फ ताजमहल ही नहीं बल्कि दिल्ली के लाल किला व कुतुबमीनार को भी गुलामी की निशानी बताया है। आजम खान ने कहा है कि देश में गुलामी की सभी निशानियों के मिटा देना चाहिए।

सपा नेता ने तंज कसते हुए कहा, ‘अकेले ताजमहल ही क्यों? संसद, राष्ट्रपति भवन, कुतुब मीनार, लाल किला क्यों नहीं? ये सब गुलामी की निशानी है।’आजम खान ने कहा, ‘जाहिर है, जिन्हें राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के लोग गद्दार कहते हैं। अगर ये गद्दार हैं, तो इन सभी निशानियों को बर्बाद कर देना चाहिए।’ यह विवाद संगीत सोम के बयान के बाद शुरू हुआ जिसमें उन्होंने बाबर, अकबर और औरंगजेब को ‘गद्दार’ कहा था। सोम ने कहा था कि इतिहास को तोड़-मरोड़ कर पेश करके उन लोगों को महापुरुष बताया गया।

संगीत सोम ने ताजमहल को “भारतीय संस्कृति पर एक धब्बा” बताया है. उन्होंने कहा, ”हम किस इतिहास के बारे में बात कर रहे हैं? ताजमहल के निर्माता (शाहजहां) ने अपने पिता को कैद कर दिया था। संगीत सोम के बयान का AIMIM के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने विरोध किया है। ओवैसी ने कहा है कि लाल किला को भी गद्दार ने ही बनाया है तो क्या पीएम मोदी लाल किला पर तिरंगा नहीं फहराएंगे?

ये भी पढ़े

शाखा से लौट रहे RSS कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या

Share this on WhatsAppपंजाब के लुधियाना में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के एक कार्यकर्ता रवीन्द्र गोसाई …

error: Content is protected !!